बिटकॉइन क्या होता है ? बिटकॉइन से पैसे कैसे कमाए ?

Bitcoin kya hai: दोस्तों आपने अक्सर ये शब्द Bitcoin जरुर सुना होगा की आज से कुछ साल पहले जिसने भी इसमें पैसे लगाए वो आज करोड़ पति है। यहाँ तक दुनिया के सबसे अमीर व्यक्ति और Tesla कंपनी के मालिक Elon Musk  $1.5  बिलियन इन्वेस्ट किये हैं।

Bitcoin kya hai bitcoin se paise kaise kamaye

सदी के सबसे बड़े एक्टर अमिताभ बच्चन ने 1.6 करोड़ इन्वेस्ट किया और देखते ही देखते वो एक साल में 112 करोड़ रूपये में बदल गयी। आखिर ये बिटकॉइन है क्या चीज़ ? क्यों इसमें लोग पैसा लगा रहे हैं ? क्या आने समय में बिटकॉइन की कीमत और बढ़ेगी ? क्या आपको इसमें पैसे लगाना चाहिए इन सभी बातों की जानकारी हम आपको इस आर्टिकल में देंगे।

Bitcoin क्या है ?

बिटकॉइन एक cryptocurrency है जिसे डिजिटल करेंसी भी कहा जाता है यह ब्लॉकचैन टेक्नोलॉजी पर आधारित है। बिटकॉइन cryptocurrency की श्रेणी में सबसे महंगी कॉइन है और यह पूरा सिस्टम इंटरनेट पर काम करता है। और इसका सारा रिकॉर्ड कंप्यूटर में सेव रहता है।

Bitcoin की कीमत क्या है ?

आज के समय में एक कॉइन की कीमत लगभग 30 से 35 लाख रुपए के बीच है। हालाँकि इसकी कीमत हर सेकंड बढ़ती घटती रहती है कई बार तो यह एक ही दिन में 4 से 5 परसेंट ऊपर निचे हो जाती है। अभी इसकी कीमत 30 लाख रूपये के आस – पास है।

Bitcoin की शुरुआत कब हुई थी और उस समय इसकी किमत क्या थी?

तब इस क्रिप्टो करेंसी की शुरुआत आज से 10 साल पहले हुई थी। जिस समय इसकी एक कॉइन की कीमत बहुत ही कम थी, इतनी कम कि उस समय 100 या 1000 कॉइन को बेचने पर शायद ही एक कप चाय का नसीब हो जाए। तो इस तरीके से आप समझ ही गए होंगे कि आज के समय में बिटकॉइन की क्या कीमत है।

मतलब साफ है कि 10 साल पहले की तुलना मे आज बिटकॉइन की कीमत लाखों में है। यानी अगर आपके पास एक बिटकॉइन है, तो मतलब आप आज गरीब नहीं है, लेकिन आप लखपति जरूर है।

हालांकि bitcoin की शुरुआत 2009 में हुई थी और उस समय इसकी किमत $0 थी और 2012 तक इसकी किमत $13.45 थी। और अभी bitcoin की किमत 8 may 2022 को 26 लाख है।

Bitcoin का future क्या है?

एक्सपर्ट लोगों का मानना है कि 2025 या 2030 तक 1 बिटकॉइन की कीमत ₹10000000 तक हो सकती है। लेकिन मुझे लगता है कि आज वह इंसान पछता रहे होंगे जिसने कुछ साल पहले बिटकॉइन खरीदी होगी, और कुछ प्रॉफिट कमाने के बाद कॉइन को बेच दिए होंगे, और शायद यही सोच रहे होंगे कि अगर बिटकॉइन को कुछ साल तक और संभाल कर रखते तो शायद हम भी आज करोड़पति या अरबपति होते, और वह लोग भी पछता रहे होंगे की मैंने बिटकॉइन क्यों नहीं खरीदी, अगर मुझे पता था तो।

Bitcoin के तरह ही अन्य कॉइन।

तो दोस्तों क्या लगता है आपको कि सिर्फ बिटकॉइन से ही अमीर बना जा सकता है। इस सवाल का जवाब हां भी है और नहीं भी। अगर आप बिटकॉइन को कुछ साल पहले खरीदते और अब तक होल्ड करके रखते तो शायद आज आप करोड़ों रुपयों में आप खेल रहे होते। लेकिन आप बिटकॉइन से बहुत ज्यादा पैसे कमाना बहुत ही मुश्किल है भले ही बिटकॉइन की आज मार्केट वॉल्यूम billion-dollar में और मार्केट कैपेसिटी ट्रिलियन डॉलर में हो, लेकिन आज के समय 1 बिटकॉइन जिसकी कीमत 35 से 40 लाख रुपए है इससे खरीद कर लंबे समय तक रखने से पहले वह इंसान हजार बार जरूर सोचेगा।

लेकिन दोस्तों ऐसा बिल्कुल भी नहीं है की आप सिर्फ बिटकॉइन से ही लाखों रुपए कमा सकते हैं, क्योंकि बिटकॉइन के अल्टरनेट में कई करेंसी आए जिसने इन्वेस्टर्स और ट्रेडर्स को अच्छी खासी प्रॉफिट दिए। उनमें एथेरियम, बाइनेंस, रिप्पल, लाइट कॉइन, कार्डोनो, शिवा आई एन यू आदि जैसे और भी कई क्रिप्टोकरेंसीज है। आज लगभग 10,000 से ज्यादा क्रिप्टो करेंसी उपलब्ध है। हम इन सब में से कुछ अल्टरनेट कॉइन के बारे में आगे चर्चा करेंगे।

Bitcoin की इतिहास।

तो वापस बिटकॉइन की तरफ चलते हैं। इसकी शुरुआत कैसे हुई, किसने किया, और क्यों किया, और हम इसे सुरक्षित कैसे रख सकते हैं, और बिटकॉइन के कुछ इंटरेस्टिंग फैक्ट्स और हम डार्क सिगरेट के बारे में भी बातें करेंगे।

2008 में वर्ल्ड इकोनामिक क्राइसिस देखने को मिला। लेकिन भले ही हमारा देश भारत को इससे ज्यादा प्रभावित ना हुआ हो, लेकिन इसका असर विकसित देशों पर देखने को मिला। जैसे कि अमेरिका, जापान, ब्रिटेन, फ्रांस, जर्मनी, आदि देश उस समय स्टॉक मार्केट बुरी तरह से क्रश कर गया था।

इसलिए इकोनामिक क्राइसिस की वजह से बहुत ज्यादा आर्थिक नुकसान हुआ, और बैंकों के द्वारा राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति के बीच वित्तीय लेनदेन में काफी दिक्कतें आ रही थी। तो इस स्थिति को समझते हुए सतोशी नाकामोतो नामक एक अज्ञात व्यक्ति ने वित्तीय लेनदेन को आसान बनाने के लिए बिटकॉइन की शुरुआत की।

बिटकॉइन किस तरह से काम करता है।

बिटकॉइन एक डिजिटल क्रिप्टो करेंसी है जो एक ब्लॉकचेन पर काम करता है, और ब्लॉकचेन, एल्गोरिथ्म पर काम करता है और एल्गोरिथ्म एक मैथमेटिकल इक्वेशन होते हैं जिससे सॉल्व करने पर रिमोट के रूप में कुछ बिटकॉइन दी जाते हैं लेकिन एल्गोरिथ्म कंप्यूटर से ही सॉल्व कर सकते हैं इंसान अपने हाथों से इसे सॉल्व नहीं कर सकता है क्योंकि यह एल्गोरिथ्म काफी कॉम्प्लिकेटेड होते हैं इसलिए इससे हैक करना भी नामुनकिन है।

हमने ब्लॉकचैन के बारे में बताया है की यह किस तरह से काम करता है और क्यों इसे हैक नहीं किया जा सकता है उसके लिए आप हमारा ये आर्टिकल जरूर पढ़ें।

Cryptocurrency क्या है? Cryptocurrency कैसे काम करती है?

Blockchain Technology explainer:

पूरी दुनिया में कितनी bitcoin हो सकती है?

इस बिटकॉइन की कैपेसिटी लिमिटेड है मात्र 21 मिलियन बिटकॉइन है जिसमें से 4 मिलियन बिटकॉइन या तो खो गए या फिर चोरी हो गया जिससे अब सिर्फ 17 मिलियन bitcoin ही हो सकती है।

जिसमे लगभग 18.74 मिलियन bitcoin बन चुकी है और अभी भी 2 मिलियन bitcoin बनना अभी बाकी है।

Bitcoin कैसे बनती है?

यह एक प्रकार का कंप्यूटर माइनिंग करेंसी है जिससे माइन करके बिटकॉइन प्राप्त किया जा सकता है बिटकॉइन को माइन करने के लिए काफी ज्यादा इलेक्ट्रिसिटी और प्रोसेसर की जरूरत होती है जिसमें प्रोसेसर को एक सीरीज में कनेक्ट करके कंप्यूटर के द्वारा एल्गोरिथ्म को सॉल्व किया जाता है जिससे रिवॉर्ड के रूप में बिटकॉइन का कुछ पार्ट्स प्राप्त होता है।

इस पूरी प्रकिया को करने में बहुत सारा पैसे खर्च होता है और बहुत ज्यादा non-renewable energy खर्च होती है। जिससे पर्यावरण को बहुत ज्यादा नुक्सान होता है।

बिटकॉइन ट्रांजैक्शन टाइम लगभग 10 मिनट लेता है जो कि बहुत ही ज्यादा टाइम है इसी के विपरीत एथेरियम जो कि बहुत ही कम समय लेता है अगर दो व्यक्तियों के बीच बिटकॉइन का ट्रांसफर करना हो तो यह लगभग 10 मिनट लेगा इस 10 मिनट के दौरान कंप्यूटर एल्गोरिथ्म को सॉल्व करके सही यूजर की आईडेंटिफाई करके ट्रांजैक्शन को कंप्लीट होता है और इस काम को अंजाम देने के लिए बहुत ही ज्यादा इलेक्ट्रिसिटी की आवश्यकता होती है और इस इलेक्ट्रिसिटी की पूर्ति उन लोगों के द्वारा किए जाते हैं जो इन बिटकॉइन को माइन कर रहे होते हैं।

ब्लॉकचेन को कुछ इस तरह से डिजाइन किया गया है कि कंप्यूटर एल्गोरिथ्म के जरिए ट्रांजैक्शन के दौरान कुछ ट्रांजैक्शन फीस के रूप में कुछ कट करके माइन करने वाले को यह कंप्यूटर रिवॉर्ड के रूप में बिटकॉइन का कुछ पार्ट्स देता है बिटकॉइन को माइन करने के लिए 24 घंटे इलेक्ट्रिसिटी की जरूरत पड़ती है।

Bitcoin के किमत में उतार चढ़ाव।

संतोषी नाकामोतो ने 2009 मैं ही बिटकॉइन शुरू किया था उस समय बिटकॉइन की कीमत ना के बराबर थी लेकिन 2010 से बिटकॉइन की ट्रेडिंग शुरू हो गई थी जब ट्रेडिंग शुरू हुई थी तो उस समय 1 बिटकॉइन की कीमत 0.0 0 0 8 $ थी और अगले 10 दिन मैं यह लगभग 100 गुना प्रॉफिट के साथ इसकी कीमत 0.08 हो गई थी अप्रैल 2011 में $1 को पार कर गया था।

लेकिन जुलाई में इसकी कीमत $32 प्रति बिटकॉइन हो गई थी बिटकॉइन की कीमतों में कई उतार-चढ़ाव आए एक ऐसा भी समय आया की बिटकॉइन की कीमत $32 से गिरकर $2 पर बिटकॉइन हो गई थी फिर इसी तरह हमें 2017 के दिसंबर में बिटकॉइन की हाईएस्ट प्राइस 20000 $ प्रति बिटकॉइन देखने को मिला लेकिन आज के समय बिटकॉइन की कीमत लगभग $30000 से भी ज्यादा हो गई है इसमें कोई दो राय नहीं है कि आने वाले समय में 1 बिटकॉइन की कीमत $100000 से भी ज्यादा हो सकती है।

Bitcoin खरीदने से पहले ये बात जान ले?

बिटकॉइन एक डिसेंट्रलाइज्ड करेंसी है जिसमें गवर्नमेंट और बैंक्स का कोई रोल और अथॉरिटी नहीं होती है यही कारण है कि क्रिमिनल और  टेरिस्ट लोग हथियारों की खरीद बिक्री के लिए फंडिंग के रूप में बिटकॉइन का या दूसरे क्रिप्टोकरंसी का इस्तेमाल करते हैं। क्योंकि यह एनोनिमयसली काम करता है।

इसका मतलब यह है कि जो भी बिटकॉइन को खरीदता है बेचता है उससे हम ट्रेस नहीं कर सकते हैं और यह भी हम नहीं बता सकते हैं कि किसके पास कितना बिटकॉइन है सिर्फ हमें ब्लॉकचेन पर यह पता चलता है कि कितना बिटकॉइन का ट्रांजैक्शन हो रहा है लेकिन इससे यह नहीं पता चलता कि कौन बिटकॉइन का ट्रांजैक्शन कर रहा है और कहां से कर रहा है जिसके कारन लोगो के पास कोई जानकारी नहीं होती है।

Bitcoin क्या banned हो जाएगा?

हम सब जानते हैं कि एक देश से दूसरे देश में किसी व्यक्ति के पास पैसों का ट्रांसफर करने के लिए बैंक बहुत ज्यादा पैसों की चार्ज करती है इसी काम को आसान बनाने के लिए सतोशी नाकामोतो ने बिटकॉइन की शुरुआत की थी लेकिन आजकल इसका इस्तेमाल गलत कामों के लिए फंडिंग के रूप में किया जाता है इसी बात का हवाला देकर भारतीय रिजर्व बैंक ने नवंबर 2018 में बिटकॉइन को पूरी तरह से बैन कर दिया था इसका मतलब यह था कि इंडियन रुपीस में बिटकॉइन का ट्रेड नहीं कर सकते थे।

लेकिन उस समय भारत में बिटकॉइन या दूसरे क्रिप्टोकरेंसीज का यूजर बहुत ज्यादा थे इसलिए यह मामला आरबीआई के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में चला गया अंततः मार्च 2020 में सुप्रीम कोर्ट ने क्रिप्टोकरेंसीज पर से प्रतिबंध हटा दिया यह कह कर की संविधान के अनुसार किसी भी चीज में ट्रेडिंग करना गैरकानूनी नहीं है लेकिन क्रिप्टो करेंसी इंडिया में लीगल टेंडर के रूप में एक्सेप्ट नहीं किया जाएगा।

इसका मतलब यह है कि आप बिटकॉइन को खरीद या बेच सकते हो लेकिन आप इससे रोजमर्रा की जिंदगी में चीजों को खरीदने के लिए इस्तेमाल नहीं कर सकते आपको बिटकॉइन को बेचकर रुपीस में कन्वर्ट करना होगा तब आप इससे लीगल टेंडर के रूप में इस्तेमाल कर सकते हैं क्योंकि भारत में लीगल टेंडर के रूप में केवल रुपए को इस्तेमाल किया जाता है।

बिटकॉइन के बारे में कुछ रोचक तथ्य।

अमेरिका के एक व्यक्ति के पास 10000 बिटकॉइन थे उसने ऑनलाइन पिज़्ज़ा खरीदी थी जिसकी कीमत $30 थी उसने पिज़्ज़ा का पेमेंट बिटकॉइन के रूप में की थी और उनकी पिज्जा करीब 10000 फीट की थी जो आज भी दुनिया का सबसे महंगा पिज़्ज़ा माना जाता है।

एक व्यक्ति ने जो अमेरिका का रहने वाला था बिटकॉइन को खरीद के हार्ड डिस्क में स्टोर करके रखे थे और उससे बाद में जब उसका हार्ड डिस्क खराब हो गया तो वह उससे कचरे में फेंक दिया था जब उसे पता चला कि की बिटकॉइन की कीमत लाखों में है तो उसने अमेरिकी सरकार से बिटकॉइन को कचरे के ढेर से ढूंढने की अनुमति मांगी थी लेकिन सरकार ने पर्यावरण की स्थिति को देखते हुए उसने उससे अनुमति नहीं दी उसके पास करीब 7500 बिटकॉइन थे।

एक व्यक्ति ने बिटकॉन को खरीद के ऑनलाइन स्टोर करके रखी थी इसका पासवर्ड वह बाद में भूल गया उसके पास करीब 7000 बिटकॉइन थे जिसकी कीमत आज करोड़ों में है।

बिटकॉइन को लीगल टेंडर के रूप में मान्यता देने वाला एल साल्वाडोर विश्व का प्रथम देश है इसका मतलब है कि आप उस देश में बिटकॉइन से कुछ भी खरीद और बेच सकते हैं लेकिन चाइना और नेपाल जैसे देशों में बिटकॉइन या अन्य क्रिप्टो करेंसी के ट्रेडिंग पर पूरी तरह से बैन है।

विश्व में क्रिप्टोकरेंसीज का सबसे ज्यादा यूजर भारत में है करीब एक करोड़ से भी ज्यादा दूसरे स्थान पर अमेरिका और तीसरे स्थान पर नजरिया आते हैं।

बिटकॉइन को या दूसरे करेंसी कैसे स्टोर रखे?

Bitcoin को मुख्य रूप से दो तरीके से स्टोर किया जा सकता है एक हॉट वॉलेट में और दूसरा कोल्ड वॉलेट मे।

हॉट वॉलेट एक डिजिटल वायलेट है इससे हम सॉफ्ट वॉलेट भी कह सकते हैं इसमें हम बिटकॉइन को ईमेल या वेबसाइट पर स्टोर करके रखते हैं और पासवर्ड से लॉक करते हैं लेकिन कोल्ड वॉलेट की तुलना में यह काफी असुरक्षित है क्योंकि यह इंटरनेट पर होता है तो हैकर आसानी से इंटरनेट के माध्यम से इससे हैक कर सकता है।

क्योंकि इसमें प्राइवेट key मोस्ट इंपोर्टेंट होता है और अगर हैकर किसी तरह आपके वॉलेट के प्राइवेट key को जान गया या गेस कर ले तो आपके अकाउंट से बिटकॉइन को आसानी से खाली किया जा सकता है और चुकी यह एनोनिमनस होता है तो आप कुछ भी नहीं कर पाएंगे और हैकर को ट्रेस करना भी आसान नहीं है इसके अलावा आप सरकार से भी मदद नहीं ले पाएंगे क्यूंकि बिटकॉइन पर गवर्नमेंट का कोई रूल रेगुलेशन नहीं है और नहीं इस पर अथॉरिटी है हाल के रिपोर्ट के अनुसार 2019 में सबसे ज्यादा बिटकॉइन को हैक करके चोरी की गई थी।

कोल्ड वॉलेट को फिजिकल वायलेट भी कहते हैं जिसके अंतर्गत लेजर ट्राइजेन मेमोरी कार्ड हार्ड डिस्क जैसे डिव्हाइस आते हैं जिसके अंतर्गत हम प्राइवेट key को सुरक्षित रूप से रख सकते हैं पेपर में भी बिटकॉइन को स्टार्ट किया जा सकता है जिससे पेपर वायलेट भी कहते हैं यह भी कोल्ड वायलेट का है एक उदाहरण है जिसमें हम पब्लिक की और प्राइवेट की को पेपर पर प्रिंट करके रखते हैं और यह काफी सुरक्षित होता है लेकिन सिर्फ इस बात का ध्यान रखना होता है कि किसी भी हालत में प्राइवेट key दूसरे व्यक्ति को पता ना चल जाए और आप वो harddisk या पेपर को खो या डैमेज ना कर दे।

Bitcoin कैसे ख़रीदे?

Bitcoin या अन्य cryptocurrency coin खरीदने के लिए आपको coin trading एप्प और वेबसाइट पर account ओपन करने होंगे जिसके लिए आपको अपना आधार, बैंक पासबुक, पैन कार्ड, मोबाइल नंबर देना होंगे।

कुछ फेमस एप्प और website के नाम ये है जो इंडिया में इस्तेमाल किये जाते हैं।

Wazirx

Coin Switch

Coin Dcx

अगर किसी से बिटकॉइन लेना है तो आपको पब्लिक key की जरूरत पड़ेगी इस पब्लिक की को आप किसी के साथ भी शेयर कर सकते हैं लेकिन अगर आपको बिटकॉइन भेजना हो या फिर उससे बेचना हो तो आपको प्राइवेट key की जरूरत पड़ेगी यह आप पब्लिक्ली share नहीं कर सकते हैं। वरना आपका अकाउंट खाली हो सकता है।

Bitcoin की तरह कुछ अन्य अल्टरनेट कॉइंस।

Etherium

Cardano

Dogecoin

XRP

Litecoin

Tether

Polkadot

Solano

Monero

USD Coin

IOTA

Tron

Binanace

Stellar

EOS

Dash

Chainlink

NEO

Avalanche

Zcash

ये कुछ फेमस cryptocurrency आज के समय में है जिनमें आप ट्रेडिंग करके प्रॉफिट कमा सकते हैं या फिर आप इससे लंबे समय तक स्टोर करके रख सकते हैं फ्यूचर में इन करेंसी की वैल्यू बढ़ने पर आप इसे बेच कर बहुत ज्यादा प्रॉफिट कमा सकते हैं।

2015 में एथेरियम का न्यूनतम प्राइस 0.4 209$ थी इसी तरह बाइनेंस का लोवेस्ट प्राइस 2017 मे 0.09 11$ थी अब 2021 में एथेरियम की प्राइस $48000 पर एथेरियम पार कर चुकी है और बाइनेंस कभी प्राइस $500 से भी ज्यादा हो चुकी है अगर आप इन दो को इनमें से किसी में भी हजार या दो हजार रुपए इन्वेस्ट करते तो तो शायद आज आप करोड़पति होते हैं लेकिन इन्वेस्ट करने के बाद आपको इन करेंसी लंबे समय तक होल्ड कर करके रखते तो तभी आपको बहुत ज्यादा प्रॉफिट होती है।

शायद ही इसकी कल्पना आपने या कईओ ने कभी की होगी आज cryptocurrency किसी इंसान को इतना अमीर बना देगा लेकिन जिसने भी की होगि आज उसकी बात सच हुई है।

हालांकि इन दो क्रिप्टो करेंसी के अलावा एक और करेंसी थी जो 2020 में आई थी वह थी सिवा आई एन यू उसमें इन्वेस्ट करते तो शायद काफी ज्यादा प्रॉफिट होती अगर आप इससे होल्ड करके रखते हो तो भविष्य में जरूर आपको फायदा होंगी।

यह क्रिप्टो करेंसी काफी वोलेटाइल होती है अगर एक तरफ किसी को प्रॉफिट हो रही तो उसी समय दूसरी तरफ आपको नुकसान भी हो सकती है इसलिए सोच समझकर ही अपने रिस्क पर इन्वेस्ट करें वैसे आज बहुत सारे एक्सचेंज सिस्टम आ चुके हैं जैसे कि कॉइनडीसीएक्स, कुबेर स्विच, बाइनेंस, वजीरएक्स है जहां पर आसानी से आप ट्रेडिंग कर सकते हैं आपको सिर्फ आधार कार्ड पैन कार्ड और बैंक अकाउंट से लिंक करने के बाद मिनिमम आप ₹100 से ट्रेनिंग शुरू कर सकते हैं।

Q- क्या bitcoin में अभी इन्वेस्ट कर सकते हैं?

A- हाँ बिलकुल कर सकते हैं पर वो आपको अपने रिस्क पे करना होगा।

Q- ज्यादा अच्छा coin कौन है Ethereum या Bitcoin?

A- Bitcoin ज्यादा अच्छा coin है पर इसकी किमत सबसे ज्यादा है।

Q- किस एप्प से trading करें?

A- wazir x एप्लीकेशन से trading करें।

Q- क्या bitcoin भारत में लीगल है?

A- नहीं bitcoin भारत में इलीगल है।

Q- cryptocurrency ज्यादा अच्छा है या स्टॉक मार्केट?

A- स्टॉक मार्केट ज्यादा सेफ और कण्ट्रोल किया जा सकता है इसलिए स्टॉक मार्केट ज्यादा अच्छा है।

Q- पुरे दुनिया में कितने बिटकॉइन मिलियनर है?

A- 100,000 मिलियनर बिटकॉइन से हैं।

Q- सबसे ज्यादा बिटकॉइन किसके पास है?

A- Changpeng Zhao जो की Binance के founder भी है।

Conclusion:

अगर आपके पास कुछ एक्स्ट्रा सेविंग के पैसे है तो आप जरूर इन्वेस्ट करें आप इन्वेटमेंट कई तरीको से कर सकते हैं जैसे स्टॉक मार्केट में, cryptocurrency में, बांड में, म्यूच्यूअल फण्ड में पर थोड़े पैसे आप cryptocurrency में भी जरूर इन्वेस्ट करें।

और ये आर्टिकल आपको कैसा लगा हमें comment कर के जरूर बताये और कोई भी सवाल हो तो हमसे जरूर पूछे हम आपकी मदद जरुर करेंगे।