Chor ka Hriday Parivartan Moral Stories for kid in Hindi

चोर का ह्रदय परिवर्तन (Moral Stories for kid in Hindi)

 

Chor ka Hriday Parivartan Moral Stories for kid in Hindi: दोस्तों एक गांव की बात है एक गांव में जो रहता था वह लोगों के घर में घुस के छोरियां करता था वह रातों में जाता और हर घर में घुसकर चोरी करता था जो भी उसके हाथ आता वह सब लिया था

 

दोस्तों एक रात की बात है वह चोर ऐसे घर में गया था जो काफी लंबे समय से बंद था और वह जाकर पूरी घर में घुमा फिर एक बार अंडे में जाकर उसने देखा कि एक कमरे में दिया जल रहा था और वह सावधान हो गया वह चुप चुप क्यों देखने लगा कि कोई है तो नहीं

Read more

और उसके बाद धीरे-धीरे दबे पांव हुए उस कमरे के पास पहुंचा और उस कमरे में अंदर जाकर देखा तो उसको वहां पर कोई नहीं दिखाता बस कुछ अलमारियां थी जो कि खुली पड़ी थी और दो पल थे पर उसकी नजर जब जमीन पर गई तो तो उसने देखा कि उस कंपनी के अंदर फर्श के सोने के टुकड़े चमक रहे हैं

 

और उस चोर ने आकाश की ओर देखा और भगवान को बोला भगवान धन्यवाद मेरे ऊपर इतनी कृपा करने की लिए और मैं उसने बोला कि मैं सारे सोना ले लूंगा और मुझे जिंदगी भर आराम हो रहा है इसकी जिंदगी बिता लूंगा और कभी जिंदगी में चोरी नहीं करूंगा

 

और उसने वह टुकड़ों को समेटना शुरू किया उसने अपनी जेब में से एक रुमाल निकाला और सारे सोना उस रुमाल में डालने लगा सर सोना जब उसने बटोर लिया तो वह उस कमरे से जाने लगा फिर अचानक उसकी नजर एक टुकड़े पर पड़ती है

 

और वह सोने के टुकड़े को लेने लगा होगा उसने अपनी जेब में हाथ डाला उसी रुमाल को निकाला और माल की गांठ को खोल कर सोने के टुकड़े को वापिस रखने लगा उसको रखने के बाद जैसे उस कमरे से जाने लगा उसकी नजर एक कुल टुकड़े पर पड़ती है वापस वही करता है रुमाल निकालता सोने के टुकड़े को रखता है ऐसा करते-करते कब सुबह हो गई उसको चोर को पता ही नहीं चला

 

कब सुबह होगी और वहां पर काफी लोग दिखती दिखने लगे थे तूने सोचा अभी यह सही समय नहीं है निकालने का तभी दरवाजे खुलने की आवाज आई और वह यह आवाज सुनकर घबरा गया और छुपने की जगह ढूंढने लगा तभी वह अल्लारी के पीछे जाकर छुप गया और वहां पर चलता हुआ दीया बुझ गया और जितने भी फर्श के ऊपर सोने के टुकड़े पड़े हुए थे वह सब कंकर और बालू के अंदर बदल गए

और पढ़ें

 

छोरी सब देखकर काफी उलझन में पड़ गया और समझ नहीं पा रहा था कि यह सब क्या हो रहा है उस कमरे में भीख मांगने वाला एक साधु अंदर आया और उसकी नजर सीधी पोटी पर पड़ी उसने देखा ही फोटो इस कमरे में कौन लेकर आया उसने उस पगली को उठाया और खोला तो देखा उसके अंदर बालू और कुछ मिट्टी पर उसके अंदर थी उसने देख देख कर उसको रख दिया

 

अलमारी उनमें के पीछे छुपा हुआ वह छोरी सब कुछ देख रहा था और वह सुख मन ही मन सोच रहा था कि इस पोटली के अंदर तू सोने के टुकड़े दे वह मिट्टी में कैसे बदल गए

 

इस उलझन को सुलझाने के लिए जोर उसी कमरे में छुपा रहा जैसे शाम हुई हो साधु उस कमरे से चला गया और दीपक वापस चल गया फर्श पर वापिस से सोने के कारण चमकने लगे चोर उसको देखकर वापस उसने वैसे ही किया अपना रुमाल निकाला और उसको उठाकर समेटने लगा

 

हिसाब जोड़ने 4 दिन तक लगातार करता रहा और लास्ट में पांचवे दिन ताकि साधु के पैरों में गिर गया और बोला कि महाराज मुझे माफ कर दो यह सब क्या हो रहा है रात दीया जल जाता है ऑफर्स के ऊपर सोने के कौन चमकने लगते हैं और रात में यह सब सोना एकदम से सुबह होते होते मिट्टी क्यों बन जाता है

 

फिर शादी बोला कि यह बालक उठाओ तुम जरूर पिछले जन्म में कोई अच्छे इंसान हो रहे होंगे तो भगवान ने तुम्हें सही मार्ग पर चलने के लिए यह सब किया है और चोर ने भी निर्णय कर लिया कि आज के बाद मैं कभी चोरी नहीं करूंगा और सही मार्ग पर चलूंगा सही दिशा भी चलूंगा मेहनत करके कमा लूंगा खाऊंगा

You May Also Like Related Stories In Hindi:-

  1. Top 5 Best Motivational Story in Hindi
  2. Short Moral Stories in Hindi
  3. real life inspirational stories in hindi

 

 

 

Leave a Comment