chudail ki kahani in hindi

chudail ki kahani in hindi

chudail ki kahani in hindi:दूर जंगल के बीच एक गांव था यहां पर एक चुड़ैल का साया था जब उस गांव में कोई बच्चा पैदा होता तो एक भेड़िया  रोने लगता तो चुड़ैल के लिए संकेत होता यहां पर एक बच्चे का जन्म हुआ है आज वही भयानक रात थी

 

मांँ- कितने प्यारे जुड़वा बच्चे हैं

पिता- हां एकदम मुझ पर गए हैं

 

मां- रहने तो देखो इसकी नाक पूरी मुझ पर गई है

 

तभी वहां पर चुड़ैल आ जाती है और बच्चों को देख लेती है और उसने ले ले कर चली जाती है बच्चे डर के मारे रोने लगते हैं

 

माँ- मां चुड़ैल से बोली कुछ देर तक तो देख लेने देती

Read more:

 

 

चुड़ैल जोर से हंसते हुए बोली अगर मैं कुछ देर बाद आती तो कौन से यह बच जाते हा हा हा हा

 

पिता से यह सब देखा नहीं जाता तो बगल में रखा डंडा उसने चुड़ैल को मारने की सूची तो चुड़ैल ने अपनी शक्तियों से उसे रस्सी से बांध दिया और कहती है

 

चुड़ैल कहती है ना ना ऐसी गलती मत करना

chudail wali story

इतना बोल कर चुड़ैल बच्चे को लेकर आसमान में उड़ जाती है

 

चुड़ैल सूची आज तो मजा ही आ जाएगा कितने दिनों बाद इन कोमल कोमल बच्चे को खाने मिला है आज तो मजा ही आ जाएगा

 

ऐसा कहते ही वह एक गुफा में जाती है और वहां पर और बच्चों की हड्डियां पड़ी रहती है चुड़ैल उन दोनों बच्चों को एक प्लेट में रख देती है और बड़े मजे से खाती हैchudail bhoot ki kahani

 

ऐसा बहुत दिनों तक चलता रहता है

 

जब भी गांव में कोई बच्चा पैदा होता चुड़ैल उसे उठाकर अपने गुफा में ले जाती और बड़े मजे से खाती गांव वाले परेशान होकर तांत्रिक के पास गए

 

तांत्रिक बोला जब तुम्हारा बच्चा पैदा हो तब तुम अपने घर के दरवाजे और खिड़की बंद रखा करो किसी को पता नहीं चलना चाहिए केक किसी घर में बच्चे का जन्म हुआ है

 

गांव वाले तांत्रिक की बात मानकर वह एक महीना अपने घर का दरवाजा और खिड़की बंद रखते थे जब बच्चे पैदा होते थे नवाज बाहर जाती और ना ही किसी को पता

 

चुड़ैल को बच्चा खाए हुए बहुत दिन हो गए तो बोले कि भूख के मारे मेरा बुरा हाल हो रहा है और यह गांव वाले किसी बच्चे को जन्म नहीं कर रहे हैं दाल में तो कुछ काला है

 

चुड़ैल गांव में जाती है और गांव में एक आदमी का दरवाजा टूटा हुआ होता है तब चुड़ैल उस दरवाजे में देखती है कि वहां पर बच्चे बड़े हो रहे हैं

 

चुड़ैल बोली हाय जब तक मैं इनकी रोने की आवाज ना सुन लेती तब तक इन लोगों को नहीं उठा पाऊंगी अब क्या करूं

 

वाह जंगल की ओर जाए ही रही होती है की तब तक उसे एक बादाम बेचने वाली औरत दिखती है चुड़ैल जल्दी से एक सुंदर स्त्री का रूप ले लेती है

 

चुड़ैल उस बादाम वाली के पास गई

 

और बोली यह क्या बेच रही हो

 

बादाम वाली बोली कच्चा बादाम बेच रही हूं

 

चुड़ैल बोली यह बादाम किस काम आते हैं

 

बदाम वाली बोली यह बादाम बच्चों को ताकतवर बनाती है

 

ऐसा सुनते ही चुड़ैल ने उस बादाम वाली को अपना असली रूप दिखा देती है और वह बदाम वाली डर के मारे वहां से भाग जाती है

 

चुड़ैल हंसते हुए बोली आई बड़ी बदाम बेचने वाली बदाम तो अब मैं भेजूंगी हा हा हा

 

चुड़ैल अगले दिन एक स्त्री का रूप धारण करती है और अपने सर पर बदाम का टोकरा रख लेती है

 

चुड़ैल गाना गाते हुए कच्चा बादाम ले लो कचा बादाम

 

एक आदमी बोला यह कच्चा बादाम किस काम का

 

वह बोली यह बदन तुम्हारे लिए नहीं यह तो अमीर आदमी के लिए है जोकि अपने बच्चे को अपनी तरह चलाकर और ताकतवर बनाना चाहते हैं और तुम तो किसी भी तरफ से अमीर नहीं दिख रहे हो और ना ही तुम्हारे बच्चे लग रहे हैं और हां होते भी तो तुम्हारी यह औकात नहीं की तुम यह कचा बदन खरीद लो

आदमी बोला ए पागल औरत तुझे पता है तू किससे बात कर रही है

 

चुड़ैल हंसते हुए बोली हां पता है एक गरीब से बात कर रहे हैं

आदमी बोला कितने का है यह सब बताओ

 

चुड़ैल बोली पूरे एक ₹100 के हैं ले सकते हो

आदमी बोला यह ले ₹500 और दफा हो जा

चुड़ैल बोली अरे साहब आप तो आप गुस्सा हो गए

आदमी बोला अब समझी कौन हूं मैं निकल यहां से

 

आदमी अपना बदाम घर लेकर गया और अपने बच्चों को बदाम दिया जैसे ही उसके बच्चे बदाम खाए उनके पेट में दर्द होने लगा दर्द के मारे वह जोर से रोने लगे

चुड़ैल रोज बादाम बेजती और  जब बच्चे बदाम खाते तो दर्द के मारे रोने लगते  और चुड़ैल  उन सबको  ले कर चली जाती

 

लोग परेशान होकर उसी तांत्रिक के पास गए और कचरा दान वाली बात बताई

 

तांत्रिक बोला लगता है की इस चुड़ैल का आखरी वक्त आ गया है और हो ना हो यह कच्चा बादाम वाली चुड़ैल है

 

तांत्रिक गांव वालों को एकता की बताता है और उसी तरकीब के मुताबिक चुड़ैल गांव में गांव में आती है

चुड़ैलगाना गाते हुए कच्चा बादाम ले लो कचा बादाम

 

तांत्रिक एक जगह जादुई घेरा बनाया रहता है जिसे एक गांव वाले को बोलता है कि जाओ चुड़ैल को किसी भी तरह इस घेरे में ले आओ

 

तांत्रिक की बात सुनकर वह आदमी चुड़ैल के पास गया जोकि एक औरत के रूप में कच्चा बादाम बेच रही थी और वह आदमी उसे माप तोल के बहाने उस घेरे में ले आया और चुड़ैल अपने रूप में आ जाती है

 

मेल गुस्से से बोली अरे पागल तांत्रिक यह तो ठीक नहीं कर रहा है

 

तांत्रिक बोला अरे पागल चुड़ैल तुम इन मासूम बच्चों को  खा जाती हो और लगता है तुम्हारा आखिरी वक्त आ गया है

 

ऐसा कहते हैं तांत्रिक एक मंत्र पढ़ता है

 

और जैसा ही तांत्रिक मंत्र पड़ता है गोला आग में बदल जाता है और चुड़ैल वहीं पर  भस्मा  हो जाती है

 

Related Tags :-

chudail ki kahani

chudail wali kahani

chudail wala kahani

kahani chudail ki

darawni chudel

chudailon ki kahaniyan

chudail ki kahani chudail ki kahani

chooral ki kahani

churel ki kahani

kahaniyan bhoot wali

kahani chudail

chudail ki story

chudail bhoot ki kahani

chudel ki kahani

 

 

Leave a Comment