कोई भी बिज़नेस फ़ैल क्यों हो जाता है ?

भारत पुरे विश्व में तीसरी सबसे लार्जेस्ट स्टार्टअप इकोसिस्टम वाली देश है। पर फिर भी 80-90 % बिज़नेस महज पाँच साल में ही बंद हो जाती है। U.S. में ऐसा कहाँ ऐसा कहा जाता है की आधे से ज्यादा बिज़नेस पहले साल में ही फैल हो जाते है, पर U.S Bureau of Labor Statistics (BLS) का ये कहना है की बात सच नहीं है। BLS कहती है की लगभग 20% नया बिज़नेस पहले दो साल में खुलने के बाद बंद हो जाती है। 45 % बिज़नेस पहले पाँच साल में खुलने के बाद बंद हो जाती है। और 65 % बिज़नेस पहले दस साल में खुलने के बाद बंद हो जाती है। मात्र 25 % ही नए ऐसे बिज़नेस होते हैं जो 15 साल या उससे जयादा तक चल पाती है।

कोई भी बिज़नेस फ़ैल क्यों होता है

मुझे खुद  बिज़नेस करते हुए एक साल बीत गए, इस दौरान मुझे कई सारी बिज़नेस फ़ैल का अनुभव है। मैं इंटरनेट पर रिसर्च करके और अपने अनुभव के आधार पर आज मैं आपका बताऊंगा की क्यों कोई बिज़नेस फ़ैल हो जाते हैं। मैं आपको बता देना चाहता हूँ की बिज़नेस फ़ैल होने के इसके अलावा और भी कई  कारन हो सकते हैं। हो सके ये कारन आपको उचित ना लगे. पर मैं आप लोगो के लिए रिसर्च करके ही ये आर्टिकल आप लोगो के लिए लेके आया हूँ। और आपको कोई और पॉइंट इसमें ऐड करना है तो आप हमें कमेंट करके जरूर बताएं। तो दोस्तों आइये सुरु करते हैं अपने इस आर्टिकल को की कोई भी बिज़नेस फ़ैल हो जाता है ?

लॉन्ग टर्म न सोच कर शार्ट टर्म से सोचने के कारन कई सारे बिज़नेस फ़ैल हो जाते हैं। 

भारत में जायदातर नवयुवक एक लाख रुपए कमाने की चाह नहीं रखता है बल्कि उन्हें दस हजार रूपये के महीने भी मिल जाए मगर वो एक महीने में मिल जाए तो काम सुरु कर देंगे पर वे ऐसा बिज़नेस बिलकुल स्टार्ट नहीं करते हैं जिसमे उन्हें पैसे छ: महीने बाद मिले या फिर तीन महीने बाद मिलेंगे। पर उनको ये बात समझना चाहिए की कोई भी बिज़नेस को एक्सपेरिएंस्ड करने में वक़्त लगता है। आपके सोचे हुए एक्सएक्ट मार्किट वैसे काम नहीं करती है इसलिए किसी भी बिज़नेस को आप अगर शार्ट टर्म के पॉइंट ऑफ़ व्यू से सोचेंगे तो आपके फेलियर होने के चान्सेस बहुत जायदा बढ़ जाएंगे। आप कोई भी बिज़नेस अगर स्टार्ट कर रहें हैं तो उसे सुरु करने से पहले ये सोच ले की आपको ये बिज़नेस कभी भी बीच में बंद नहीं करना है जब तक आप अपने सोचे गए हुए लक्ष्य तक पहुँच नहीं जाते हैं। 

इंसान का व्यव्हार ठीक नहीं होने के कारन कई सारे बिज़नेस फ़ैल हो जाते हैं। 

लोगो को कन्वेंसड कर पाना एक स्किल है और ये स्किल आप ऑब्सेर्वे और रियेक्ट कर के ही सिख सकते हैं जितना ज्यादा आप किसी इंसान से प्यार से और हम्बल तरीके से बात कीजियेगा उतना अच्छे से ही कोई भी इंसान आपको प्यार देगा। इसलिए आपको अपना व्यव्हार हमेशा अच्छा रखना है सभी से ताकि सब लोग उस कंपनी में या बिज़नेस में ख़ुशी – ख़ुशी काम करें ना की आपके दुर्व्यव्यवहार से आपके कंपनी में फायदे और नुक्सान से उसे कोई फर्क ही ना पड़े। आपके अच्छे व्यव्हार से आपको क्लाइंट और ग्राहक आप से जुड़े रहेंगे। आपको किसी से फेक भी नहीं रहना है और ना ही आपको किसी से ज्यादा चापलूसी करना है आपको बस लोगो की हेल्प करना है और उन्हें रेस्पॉन्स देना है। 

लोकेशन गलत चुन लेने के कारन कई सारे बिज़नेस फ़ैल हो जाते हैं।  

बिज़नेस फ़ैल होने का ये सबसे बड़ा कारन है की लोग लोकेशन गलत चुन लेते हैं। जरा सोचिये की अगर आपकी चाय – पानी की दूकान है और आप उसे बाजार से दूर खुले मैदान के आस पास खोलते हैं तो क्या ये कोई सेंस बनेगा वहीँ अगर आप वो चाय की दुका अगर आप किसी भीड़ भाड़ वाले इलाके में खोलते है तो आपकी दुकान की ग्रोथ की चान्सेस बढ़ जायेगी। चलिए मैं एक और एक्साम्प्ल लेता हूँ अगर आप पानी की बोतल बेचते हैं तो वो पानी की बोतल सबसे जयादा कहाँ बिकेगी किसी स्कूल के सामने या किसी रेलवे स्टेशन के सामने तो जायदा चांस है की जो व्यक्ति रेलवे स्टेशन के सामने चाही बेचेगा वो जायदा पैसे कमा ले बजाय उसके जो किसी स्कूल के सामने चाय बेचे। इस लिए किसी भी बिज़नेस में लोकेशन बहुत ज्यादा जरूरी चीज़ होती है।

मल्टी थिंकिंग या एक साथ कई बिज़नेस को संभालने के कारन कई सारे बिज़नेस फ़ैल हो जाते हैं।  

कई बार इंसान को लगता है की पैसे कई तरीकें से कमाया जा सकता है और ये सच भी है पर कोई एक व्यक्ति उन सारे तरीकों से पैसे कमा नहीं सकता ये सच्चाई है। बहुत सारे लोग ऐसे होते हैं जो एक साथ कई बिज़नेस सँभालते हैं। जिससे की वो किसी एक बिज़नेस को अच्छे तरीके से फोकस नहीं कर पाते है जैसे मैं अगर अपनी बात करूँ तो मैं एक साथ प्रिंटिंग प्रेस का काम भी कर रहा था और दूसरे और कंप्यूटर रिपेयरिंग का काम भी संभाल रहा था और हुआ यह की ना तो मैं कंप्यूटर रिपेयरिंग वाले बिज़नेस में सफल हो पाया और ना ही प्रिंटिंग प्रेस वाले बिज़नेस में क्यूंकि मैं उस समय और भी बिसनेस कर रहा था जैसे मे कस्टमर ऑनलाइन सर्विस केंद्र जिसमे मैं लोगो के ऑनलाइन और कंप्यूटर रिलेटेड काम करता था। और इसी कारन से किसी भी बिज़नेस में सफल नहीं हो पाया। इसलिए आप मेरी गलती से सीखें और एक बार पहले एक ही बिज़नेस को संभालिये और एक को सफल होने के बाद ही किसी दूसरे बिजनेस में जाएँ। 

यूजर एक्सपीरियंस खराब होने के कारन भी कई सारे बिज़नेस फ़ैल हो जाती है। 

बिज़नेस फ़ैल या पास करने में सबसे बड़ी भूमिका होती है आपके जनता की आपके कस्टमर की अगर आपके कस्टमर खुश तो आपके बिज़नेस भी खूब चलेगी। आप भले ही अच्छे व्यवहार वाले इंसान है। पर अगर आपका काम समय पर पूरा नहीं होता है और आप काम में गड़बड़ी कर देते हैं तो आपका मनोबल टूट जाएगा और ग्राहक  भी आपसे दोबारा काम नहीं करवाएंगे। इसलिए बिज़नेस लाइन एक बात याद रखियगी की रहिमन धागा प्रेम का मत तोड़ो चटकाएं टूटे से भी न जुड़े जुड़े पर गाठ रह जाए। और दूसरी कहवत है की रघुकुल रीत सदा चली आयी प्राण जाए पर वचन न जाए। ये दो कहावत को अगर आप किसी भी बिज़नेस में फॉलो करते हैं तो आपका बिज़नेस दिन प्रतिदिन बढ़ती जी जायेगी। 

तो दोस्तों ये थे कुछ कारन जिससे की भारत में कई सारे बिज़नेस फ़ैल हो जाते हैं। ये आर्टिकल आपको कैसा लगा हमें कमेंट कर के जरूर बताइये और अगर आपको कोई और कारन पता है की जिससे की बिज़नेस फ़ैल हो जाते है या बिज़नेस में क्या – क्या बात ध्यान रखना चाहिए। तो आप हमने कमेंट कर के जरूर बताईये।