Pregnant na hone ke upay | Pregnant na hone ke liye kya karen ?

pregnant na hone ke upay
pregnant na hone ke upay

हेल्लो दोस्तों आज के इस लेख में हम आपको pregnant na hone ke upay के बारे में बताएँगे . भारत में सेक्स एजुकेशन को अस्लीनता माना जाता है , वैसे में कई बार pregnant na hone ke upay नहीं मालूम नहीं होने के कारन अक्सर कपल्स को बहुत ही ज्यादा परेसानी उठानी पड़ती है, हालांकी एक बहुत ही फेमस कहावत है की प्र्वेंतन इस बेटर देन क्योर मलतब की बीमार होने से बढ़िया है बीमार ना होने के उपाय खोज लो . कई बार तो ऐसा भी होता है जब लड़की प्रेग्नंत हो जाती है तो समाज के डर् से आत्महत्या भी कर लेती है , या कई बार उसे बदनामी सहना पड़ता है , या फिर कई बार कम उम्र में ही उनकी शादी करानी पड़ती है , हालाँकि प्रेग्नंत होने से कई नुक्सान भी होते हैं जैसे अगर लड़की कम उम्र में प्रेग्नंत हो जाये तो उसकी कैरियर लगभग ख़त्म ही हो जाती है, क्यूंकि उस पे बच्चे का बोझ आ जाता है . इसलिए आज के इस लेख में हम आपको pregnant na hone ke upay के बारे में बताएँगे ताकि हर इंसान खुसी से प्यार कर सके . आइये हम pregnant na hone ke upay के बारे में विस्तार से जानते हैं। 

Pregnant na hone ke upay

नेचुरल मेथड / प्रकिर्तिक मेथड

नेचुरल मेथड का मतलब यह होता है की स्पर्म यानी सुक्रानु को ओवुम यानी महिला के योनी में प्रवेश करने से रोकना हालाँकि यह कई तरीकों से किया जाता है . हालाँकि आपको एक पुरुष को यह ध्यान रखना की उसका वीर्य यानी शुक्राणु लिंग से अब बाहर ही आने वाला है. तो उसे झट से योनी के बाहर गिरना होगा . इससे महिला को पुरुष को शुक्राणु नहीं मिलती है और वह प्रेग्नेंट नहीं होती है। 

पेरिओदिक अब्स्तिनेंस /आवधिक संयम

इसका मतलब यह होता है की कपलस को महिला के मेन्स्त्रुअल साइकिल ख़त्म होने के बाग़ जब ब्लीडिंग हो जाती है उस दिन से स्टार्ट करके दस्मे दिन से लेकर सतरमें दिन तक सम्भोग नहीं करना है और फिर अथरमे दिन से वह वापस सम्भोग कर सकता है . और उस से पहले भी ब्लीडिंग के बाद पहले दिन से लेकर नवमे दिन तक वह सम्भोग कर सकता है . आपको बता दे की ये दस से सतरमे दिन तक प्रेग्नंत होने के सबसे ज्यादा चांस रहते हैं। 

लैक्टेशनल अमेनोरिया

लैक्टेशनल अमेनोरिया एक पीरियड है जिसमे मेन्स्त्रुअल साइकिल पूरी तरह अब्सेंट रहता है . दरअसल जब महिला प्रेग्नंत होती है . तो उसे अपने बच्चे को दूध पिलाना होता है , और इस दौरान उस महिला का ब्रैस्ट दूध से भरा हुआ होता है , जिससे की बच्चा दूध पी सके , इसलिए इस दौरान मेंस्त्रुल साइकिल पूरी तरह अब्सेंट होता है , इस दौरान सेक्स करने से प्रेगनेंसी की चांस सुन्य होते हैं . हालाँकि यह सिर्फ 6 महीने तक ही होता है . ये 6 महीने तक ही महिला सेक्स करने के दौरान प्रेग्नत नहीं होगी। 

बैरियर मेथड 

Pregnant na hone ke upay : इस मेथड में शुक्राणु यानी स्पर्म को ओवम यानी योनी में घुसने से रोका जाता है , जिसके लिए फिजिकल मेथड का इस्तेमाल किया जाता है . इस तरह के तरीके महिलाओं और पुरुष दोनों के लिए ही होते हैं . आइये हम इन तरीकों के बारे में जानते हैं। 

कंडोम का उपयोग करे 

कंडोम एक पतले से थीं रबर की होती है जो पुरुष लिंग में पहनते हैं , यह डिस्पोजल है और खुद से लगाया जाता है , ताकि शुक्राणु महिला के योनी में प्रवेश नहीं कर सके , निरोध एक बहुत ही पोपुलर ब्रांड है कंडोम के लिए . कंडोम के इस्तेमाल से एड्स जैसे बिमारी फैलने से भी रोकती है . Pregnant na hone ke upay

महिलाओं के लिए भी कंडोम आती है .

Diaphragms, cervical caps और vaults ये तिन बैरियर मेथड है महिलाओं के लिए जिसे वो अपने आप को प्रेग्नंत होने से बचा सकती है हालाँकि ये सभी प्रोडक्ट आपको मेडिकल स्टोर में आसानी से मिल जायेगी . इसे दोबारा भी इस्तेमाल कर सकते हैं . इसमें Spermicidal creams, और jellies होती है जो प्रेग्नंत होने से बचाती है . Pregnant na hone ke upay

Pregnant na hone ke upay

यूँ तो प्रेग्नेंट नहीं होने के कई तरीकें हैं पर फिलहाल हम आपको सिर्फ नेचुरल तरीके बतला रहे हैं जिससे कोई भी महिला अपने आप को प्रेग्नेंट होने से बचा सकती है। अगर आप Pregnant na hone ke upay के बारे में पूरी डिटेल जैसे प्रेग्नेंट से बचने के लिए दवाइयां, प्रेग्नेंट से बचने के लिए इंजेक्शन और प्रेग्नेंट में कितने महीने के अंदर गर्भासन करा सकते हैं इन सभी बातो को डिटेल से जानना चाहते हैं तो आप हमें कमेंट कर के जरुर बताइये।

इसे भी पढ़े –

Birth Control Methods: How Well Do They Work? – Kids Health